गुरुवार, जनवरी 22, 2009

मेरी नज़र में तमन्ना!



मेरी नज़र में तमन्ना का मतलब है एक ही दिन में आकाश छू लेने की चाहत! इससे दो फायदे हैं... एक ये कि हमें आकाश कि ऊँचाई का एहसास हो जाएगा और दूसरा हमें ख़ुद कि "औकात" भी मालूम हो जाएगी... वैसे दूसरा फायदा ज़्यादा अच्छा है... क्योंकि स्वामी विवेकानंद ने कहा था कि "सबसे बड़ा ज्ञानीवही है जो ख़ुद को जानता है" सच है ख़ुद को जानना ही "तमन्ना" कि असली पहचान है...



4 Responzes:

प्रभाकर पाण्डेय ने कहा…

"सबसे बड़ा ज्ञानीवही है जो ख़ुद को जानता है"

बहुत बड़ी बात। सटीक और यथार्थ लेखन के लिए धन्यवाद।

विनय ने कहा…

बहुत अच्छे विचार


---आपका हार्दिक स्वागत है
चाँद, बादल और शाम

Udan Tashtari ने कहा…

ख़ुद को जानना ही "तमन्ना" कि असली पहचान है...


-सत्य वचन.

technology ने कहा…

changan250
lingmu300
changhe100
dazhong3000
passt130

LATEST:


विजेट आपके ब्लॉग पर

Blogspot Templates by Isnaini Dot Com. Powered by Blogger and Supported by Best Architectural Homes